Ajab-Gajab: पिछले 75 सालों में आधी रह गई है व्हेल शार्क की आबादी, कारण जानकर रह जाएंगे हैरान

 | 
shark

इंटरनेट डेस्क। विश्व का 80 प्रतिशत अंतरराष्ट्रीय व्यापार समुद्र के रास्ते किया जाता है। इसके लिए विशाल जहाजों का उपयोग किया जाता है। समुद्री व्यापारिक मार्ग जीवों की मौत का कारण बने हुए हैं। इसी कारण व्हेल शार्क जैसे जीवों की संख्या में लगातार कम देखने को मिली है। 

shark

नए अध्ययन के अनुसार, विश्व की सबसे बड़ी मछलियों, व्हेल शार्क की मौत का कारण व्यापारिक समुद्री मार्ग बने हुए हैं। आजको जानकर हैरानी होगी कि 20 मीटर तक लंबी व्हेल शार्क की आबादी पिछले 75 सालों में आधी रह गई है। इसी कारण साल 2016 में इस मछली को संकटग्रस्त शार्क प्रजातियों में भी जगह दी गई है।

shark

समुद्री नौपरिवहन व्हेल शार्क के मौत का प्रमुख कारण है। कई बार शार्क जहाजों के रास्ते में आ जाती हैं। किसी बड़े जहाज से टकराने पर व्हेल शार्क के बचने की संभावना ना के बराबर होती है। खबरों के अनुसार, व्हेल शार्क के जहाजों से टकराने की घटनाओं की जानकारी हासिल करने के लिए 60 वैज्ञानिकों की टीम ने अध्ययन किया है।