बिजली की मांग और आपूर्ति में अंतर गहलोत सरकार के कुप्रबंधन-अकर्मण्यता की देन है: Rajendra Rathore

 | 
Rajendra Rathore

जयपुर। उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने राजस्थान में बिजली संकट को लेकर एक फिर से मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर निशाना साधा है। अशोक गहलोत द्वारा प्रदेश में बिजली की मांग और आपूर्ति को लेकर दिए गए बयान के संबंध में राजेन्द्र राठौड़ ने निशाना साधा है।

उन्होंने इस संबंध में आज ट्वीट किया कि सीएम अशोक गहलोत जी, बिजली की मांग और आपूर्ति में अंतर आपकी सरकार के कुप्रबंधन-अकर्मण्यता की देन है। 23,309 मेगावाट विद्युत उत्पादन का दंभ भरने वाली आपकी सरकार के शासन में राज्य के अधिकतर थर्मल पावर प्लांट तकनीकी कारणों से बंद पड़े हैं। साथ ही पेयजल संकट की दोहरी मार पड़ रही है।

इससे पहले अशोक गहलोत ने ट्वीट किया था कि मई-जून माह में पडऩे वाली भीषण गर्मी अप्रैल माह से ही प्रारम्भ हो गई। वर्तमान में पूरा देश बिजली संकट से जूझ रहा है। राजस्थान भी इससे अछूता नहीं है। मांग और आपूर्ति में अंतर बढ़ा है। इण्डियन एनर्जी एक्सचेंज से खरीद के लिए भी बिजली उपलब्ध नहीं है।