अब नए रूप में लागू होगी ये योजना, मुख्यमंत्री Ashok Gehlot ने दी मंजूरी

 | 
Ashok Gehlot

जयपुर। अशोक गहलोत ने अब घर-घर औषधि योजना का विस्तार कर नए रूप में लागू करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है। इस बात की जानकारी उन्होंने सोशल मीडिया के माध्यम से दी है। 

उन्होंने ट्वीट किया कि घर-घर औषधि योजना का विस्तार कर नए रूप में लागू करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है। इससे ‘हरित राजस्थान-स्वस्थ राजस्थान’ की संकल्पना के तहत प्रदेशभर में सघन वृक्षारोपण अभियान चलाए जाएंगे। वृक्षारोपण कार्यक्रम में वर्ष 2022-23 के लिए 42 करोड़ की लागत से 5 करोड़ पौधे तैयार किए जाएंगे।

इनमें से 3 करोड़ पौधे आमजन को मांग अनुसार उपलब्ध कराने का प्रावधान किया गया है। आमजन को पौधे सरकारी नर्सरियों से मिलेंगे तथा दूरी की समस्या होने पर अन्य स्थानों से भी वितरण किया जा सकेगा। प्रदेशवासियों को जनआधार कार्ड के आधार पर सरकार द्वारा निर्धारित दर पर पौधे वितरित किए जाएंगे।

सामुदायिक स्तर पर वृक्षारोपण हेतु राज्य की 10 हजार ग्राम पंचायतों को गोचर/ओरण/चारागाह हेतु तैयार किए गए 1 करोड़ पौधे उपलब्ध कराए जाएंगे। प्रत्येक ग्राम पंचायत क्षेत्र में प्रतिवर्ष 1000 पौधे उपलब्ध कराए जाएंगे। 200 बड़े नगरीय क्षेत्रों में लगभग 1 करोड़ पौधे प्रतिवर्ष लगाए जाएंगे।