Vastu Tips: वास्तु शास्त्र के अनुसार पूजा स्थल पर भूलकर भी ना करें ये गलतियां, भुगतने पड़ सकते हैं बुरे परिणाम !

 | 
ss

आपने देखा होगा कि अधिकतर लोग नियमित रूप से सुबह पूजा पाठ करते हैं लेकिन कुछ लोग पूजा-पाठ करते कुछ ऐसी गलतियां करते हैं जिनको वास्तु शास्त्र में करना अशुभ बताया गया है। इसके साथ ही वास्तु शास्त्र में कुछ ऐसी बातों के बारे में भी बताया गया है जिनको करने से आपको भविष्य में बुरे परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं। आइए इस लेख के माध्यम से आपको बताते हैं कि वास्तुशास्त्र में पूजा पाठ करते समय कौन-कौन सी गलतियों को करने से मना किया गया है। आइए जानते है -

d
* भूलकर भी मंदिर में ना रखें एक से ज्यादा मूर्तियां :

वास्तु शास्त्र के अनुसार बताया गया है कि घर पर कभी भी एक से अधिक देवी देवताओं की मूर्ति नहीं रखनी चाहिए। क्योंकि ऐसा करने से आपके घर पर नकारात्मक प्रभाव पड़ने लगता है और आपके घर में दुर्भाग्य आने लगता है।


* सूखे फूलों को तुरंत हटा दें :

वास्तु शास्त्र में बताया गया है कि पूजा करने के बाद भगवान को अर्पित किए जाने वाले फूल को सूख जाने के बाद तुरंत मंदिर से हटा देना चाहिए क्योंकि सूखे हुए फूलों से घर में नकारात्मक ऊर्जा का वास होने लगता है जो आपके पारिवारिक माहौल को बिगाड़ने लगती है

ddd
* मंदिर में ना फेंके माचिस की तीली :

आपने देखा होगा कि अक्सर लोग पूजा पाठ करते समय भगवान को दीपक या धूप दिखाते हैं लेकिन दीपक या धूप जलाने के लिए माचिस का इस्तेमाल करते समय लोग तीली को उसी स्थान पर फेंक देते हैं। ऐसा करने से आपके घर में नकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश होने लगता है जिसकी वजह से आपके घर में कलेश का माहौल बना रहता है।


* भूलकर भी टूटी हुई मूर्तियों की ना करें पूजा :

वास्तु शास्त्र में बताया गया है कि पूजा स्थल पर भगवान की टूटी हुई मूर्ति को कभी भी नहीं रखना चाहिए। क्योंकि खंडित मूर्तियों की पूजा करने से आपको किसी भी प्रकार का फल नहीं मिलता है और ना ही आप की पूजा पूरी मानी जाती है।